नक्सल मुद्दे से निपटने तीन राज्यों ने रणनीति पर चर्चा की

आंध्र प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री और गृह मंत्री निमाकायाला चिनराजप्पा की अध्यक्षता में सोमवार को विशाखापत्तनम में आंध्रप्रदेश, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के सभी वामपंथी चरमपंथी प्रभावित जिलों की समन्वय समिति की एक बैठक हुई।

ओडिशा के पुलिस महानिदेशक एम. माला कोंडाया, विशाखापट्टनम रेंज के डीआईजी श्रीकांत, ग्रे हाउन्ड आईजी नलिल प्रभात, विशाखापट्टनम, श्रीकाकुलम, विजयनगरम् और पूर्वी गोदावरी जिलों के पुलिस अधीक्षकों के अलावा छत्तीसगढ़ के भी वरिष्ठ पुलिस व सुरक्षा बलों के अधिकारी इस बैठक में उपस्थित थे।

यह पता चला है कि बैठक आंध्र प्रदेश, ओडिशा और छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती क्षेत्रों के अलावा छत्तीसगढ़ के सभी वामपंथी चरमपंथी प्रभावित जिलों में माओवादी मुद्दे से निपटने पर केंद्रित थी। समन्वय समिति की बैठक लगभग तीन साल पहले गृह मंत्रालय से निर्देश पर शुरू की गई थी। इसे पुलिस और अर्धसैनिक बलों के बीच सूचना और खुफिया सूचनाओं के आदान-प्रदान और में सुधार करने के लिए शुरू किया गया था। तीन राज्यों की पहली बैठक केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में सन्  2016 में हुई थी।

Leave a Response